चुरू जिले के सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने की आत्महत्या, अपने क्वार्टर में फंदा लगाकर की आत्महत्या, जानिये पूरी खबर

By | May 23, 2020

चुरू जिले के सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने की आत्महत्या:- आज सुबह राजस्थान पुलिस के एक जाबांज पुलिस अधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने अपने ही सरकार आवास पर फंदे से झूल कर अपने प्राण त्याग दिए | उन्होंने अपने पीछे कोई भी सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है और पुलिस अधकारियो ने अभी तक इसके सम्बन्ध में कोई भी सूचना मीडिया के साथ साझा नहीं की है विष्णुदत्त विश्नोई की छवि हमेशा से बेदाग़ रही है और फिलहाल इनकी पोस्टिंग राजगढ़ में थी जहा पर इन्होने कई बड़ी करवाहियो को अंजाम दिया था जिसके चलते जितने लोग इनके निस्वार्थ सेवा भाव की वजह से इनके प्रशंशक बने वही पर इनके बेख़ौफ़ ड्यूटी करने की वजह से आपराधिक प्रवृत्ति के लोग इनके लिए हमेशा से ही घात लगाये बैठे रहते थे

Churu jile ke saadulapur thaanaadhikaaree vishnudatt bishnoee ne kee aatmahatya

Churu jile ke saadulapur thaanaadhikaaree vishnudatt bishnoee ne kee aatmahatya

लेकिन इस भारत माँ के लाल ने कभी किसी के सामने अपने घुटने नहीं टेके लेकिन आज पता नहीं किस मजबूरी के चलते इस निडर इंसान ने जिंदगी की जगह मौत को गले लगाया | ऐसे दमदार और काबिल पुलिस अफसर के जाने से आज न केवल पुलिस महकमा बल्कि पूरा राजस्थान सदमे में है क्योकि इनकी जहां भी पोस्टिंग रही, वहां पर ये अपने काम की वजह से सबके चहेते बने  और अपने दमदार काम की वजह से इन्होने हर इलाके में एक कर्मठ पुलिस अधिकारी की छाप छोड़ी और अपनी जिंदगी के आख़री लम्हों तक इस अधिकारी ने राजस्थान पुलिस की  ड्यूटी को पूरी इमानदारी से निभाया |

चुरू जिले के सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने की आत्महत्या

इनके आत्महत्या की जानकारी मिलते ही पूरा पुलिस डिपार्टमेंट सकते में आ गया है क्योकि विभाग ने अपना एक जाबांज ऑफिसर गवां दिया है और दुखद सूचना की जानकारी मिलने के साथ ही पुलिस आईजी जोश मोहन मौका मुवायाना करने के लिए अपने स्थान से रवाना हो गए लेकिन अभी तक कोई भी ऐसे कारण सामने नहीं आया है जिससे इनके आत्महत्या की गुत्थी को सुलझाया जा सके

सूत्रों के माने तो राजगढ़ में हुए किस हत्याकांड में ये अधिकारी अपनी  ड्यूटी कर रहे था  जिसको लेकर विष्णु दत्त जी काफी समय से तनाव में भी थे गौरतलब है के राजगढ़ जैसे इलाके में अपराध का ग्राफ हमेशा से ही ज्यादा रहा है लेकिन इस जाबांज अधिकारी के राजगढ़ में होने की वजह से अपराधी खौफ में थे इसके साथ ही बताया जा रहा है कि अपने बेख़ौफ़ कार्यवाही के कारन इस अधिकारी पर कुछ राजनीतिक दबाव भी हो सकता है जिसके चलते शायद इन्होने इतना बड़ा कदम उठाया है जिस पर राजस्थान के हर नागरिक को पछतावा है

विष्णुदत्त विश्नोई ने की आत्महत्या

अभी तक जितने भी थानों में विष्णु दत्त विश्नोई ने काम किया था वहां पर क्राइम को पूरी तरफ साफ़ कर दिया था चाहे छोटा मोटा चोर हो या कोई बड़ा माफिया, जब तक विष्णु दत्त विश्नोई  इलाके के थानाधिकारी रहते थे तब तक कोई अपराध करना तो दूर, अपराध करने के सोचता भी नहीं था अपने पुलिस कार्यकाल में इन्होने काफी बड़े बड़े केस सोल्व किये और बहुत से अपराधियों को इनकी वजह से जेल की हवा खानी पड़ी लेकिन ये जहां भी रहे इन्हें जनता का प्यार भी खूब मिला | आज यह अधिकारी हमारे बीच नहीं रहा लेकिन  पुलिस में शामिल होने वाले युवाओं के लिए विष्णु दत्त विश्नोई एक आदर्श उदहारण है जिसके कर्म पथ पर हर पुलिसकर्मी को चलना चाहिए | भगवान् इस अधिकारी की आत्मा को शांति दे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *